UP: 2024 तक पूरा हो जाएगा अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण, तीन तरह के सुलाएं का उपयोग . ️️️️️️️️️️️️️️️ - Hindi News; Latest Hindi News, Breaking Hindi News Live, Hindi Samachar (हिंदी समाचार), Hindi News Paper Today - Ujjwalprakash Latest News
UP: 2024 तक पूरा हो जाएगा अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण, तीन तरह के सुलाएं का उपयोग . ️️️️️️️️️️️️️️️

UP: 2024 तक पूरा हो जाएगा अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण, तीन तरह के सुलाएं का उपयोग . ️️️️️️️️️️️️️️️


2024 तक पूरा अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण (फाइल फोटो)

2024 तक पूरा अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण (फाइल फोटो)

चं रई ने कहा कि राम मंदिर निर्माण का 70 प्रतिशत काम-पत्ती के बमवर्षा है। ऐसे में राम मंदिर निर्माण (राम मंदिर निर्माण) में श्रमदान की ही है।

अयोध्या धर्म नगरी अयोध्या (अयोध्या) में राम मंदिर निर्माण (राम मंदिर निर्माण) का कार्य 2024 तक पूरा किया गया। तेजी से तेज गति से चलने वाला। श्रीराम जन्म भूमि परीक्षण के अनुसार, राम जन्म भूमि मंदिर का निर्माण 3 अलग-अलग प्रकार के- डिवाइस का उपयोग किया जाता है। मेर कि प्लिंथ का निर्माण मिर्जापुर के 4 लाख मिर्जा से होगा। गृहगृह में वंशीपहाड़पड़ूर के लाल का उपयोग किया गया था। । परकोटा निर्माण में पूरी तरह से सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि देश में पत्थरों की कई खदानें हैं, जहां विभिन्न प्रकार के क्वालिटी वाले पत्थर हैं। अंतरिक्ष यान से संपर्क करें . मंदिर के 5 कीटाणुओं का निर्माण किया जाता है।

परकोटा निर्माण में विशेष खेल होगा वीडियो हों। अब तक सुनिश्चित करें बीच-बीच में. श्रीराम जन्म भूमि का कार्य क्षेत्र विश्वास के अनुसार 2024 तक निर्माण कार्य का पूरा होना चाहिए। चं राय ने मासिक कि राममंदिर निर्माण का 70 प्रतिशत काम-बकरी के मानसून में। इस तरह से राम मंदिर निर्माण में श्रमदान की स्थापना की गई है।

यूपी: बिहार के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को पुलिस ने असं, के साथ धरने पर

श्रीराम जन्मस्थल भवन निर्माण की दो बैठकें अयोध्या में होने वाली हैं। यों 13 और 14 नवंबर की बैठक में अपराहन 3 बजे सर्किट हाउस (फजाबाद) में। श्रीराम जन्मस्थल भवन निर्माण के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र 12 नवंबर की शाम को अयोध्या होंगे। वे दो दिनों तक अयोध्या में रहकर मंदिर निर्माण की प्रगति की समीक्षा करने के साथ-साथ भावी योजनाओं पर मंथन करेंगे।




.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *