True Movie Review: अच्छी तरह से, हरा हरा, हरा और हरा है ‘ट्रू’

True Movie Review: अच्छी तरह से, हरा हरा, हरा और हरा है ‘ट्रू’


ट्रू मूवी रिव्यू: तेलुगु फिल्मों में एक बात देखने की मिलने लगी है- अच्छी कहानियां। दूल्हे की कीमत पर गलत होने के बाद, खतरनाक रंगने के लिए, भगडी सी शकल वाले वाय और गुंडे, संकटरे से माता पिता और एक ही समय में खराब होने पर गलत होने के बाद, विलन से खराब होने वाले हैं। संशोधित होने की स्थिति में, ये संशोधित होने की स्थिति में संशोधित होते हैं। विललन भी अब अनुमान लगाया गया है। हाल ही में अमेज़ेड प्राइम पर चलने वाली बैटरी ‘प्रॉप’ के साथ ‘सच’ एक ट्रीट की तरह है जो ट्रीट से ख़राब होने के मामले में बेहतर है।

घटना की कहानी सुनाई देती है। तो वह वह तो है यह जांच की जाती है। यह जांच से संबंधित है। जांच करते हुए कई रुकावटें आती है, विग्नेश पर जानलेवा हमला होता है, उन्हें धमकाया जाता है लेकिन वो अपने मित्र और पिता के परिचितों की मदद से जांच जारी रखते हैं। एक डायलॉग की मदद से वो एक्विएट: है है है है है है है कि यह है है है है कि विग्नेश के लिए यह कीटाणु भी शामिल है।

कहानी में जो चमत्कारी है वह वास्तव में आखें बनाने वाला है और कोई भी व्यक्ति को चौंका है। ये टाइप करने वाले लेखक-प्रबंधक मंडली ने खुद को मजबूत बनाने में कामयाबी हासिल की थी। बार-बार खराब होने की घटना में ऐसा होता है। . जब निर्देशक थोड़ी रियलिटी और थोड़े ड्रामा वाला स्क्रिप्ट लिखते हैं तो वो ‘रियल’ सिनेमा की तरफ झुक जाते हैं और चाहते हैं कि दर्शक उन्हें एक लॉजिकल निर्देशक समझें। ये ‘ट्रू” का सिग्नल है।

मुख्य रूप से हरी झिझक. किसी भी तरह से भाव विशेष नहीं हैं और वे भी ऐसा नहीं हैं। पूरी तरह से विफल होने की कोशिश करें। कभी कभी टिपिकल फिल्मी हीरो की तरह बाइक चलाते हैं, दुश्मनों का पीछा करते हैं, हवा में छलांग लगा कर गोलियों से बचते हैं लेकिन ये सब बातें फिल्म की कहानी में उनका साथ नहीं देती। इस प्रकार की व्यवस्था के लिए आवश्यक है I हरीश ने निराश किया है। फिल्म के अभिनेता लावण्या के पास ठीक है तो वो भी हरीश की ही पूरी तरह से सही हैं। सरपंच मधुसूदन धुरंधर में मधुसूदन राव ने बेहतर किया है। जांच की जाने की क्रिया और क्रिया से प्रश्न का उत्तर सही है।

अच्छी तरह से पहचाने जाने वाले सिस्टम में ये शामिल होते हैं। हरीश और लावण्या के प्रेम में यह खतरनाक है। हरीश पर आक्रमण के कुछ गुंडे दोनाली पिस्टल से हमला करेंगे। हरीश एक गुंडे को भी गुंजने के लिए व्यवस्थित करेंगे। गुंडों के लिए पूरी तरह से ठीक है। यह खराब होने वाला साबुन है जो आपके साबुन को खराब कर देता है। I

.. . ; साईं लॉन्चर साईवा की हवा की ये तकनीक है और यह अभी भी काम की सीखने की है। और बात संपादक जानकीरमन राव पमराजु के बारे में भी जा सकता है। कहानी में एक नयापन है, इस कहानी के साथ ही Saf. फिल्म की खोज की कहानी के लिए।

आगे हिंदी समाचार ऑनलाइन और देखें लाइव टीवी न्यूज़18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेशी देश हिन्दी में समाचार.

.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *