प्रदोष व्रत 2021: दश के दिन प्रदोष व्रत, जानें इस समय प्रदोष का महत्व और पूजा का

प्रदोष व्रत 2021: दश के दिन प्रदोष व्रत, जानें इस समय प्रदोष का महत्व और पूजा का


त्रयोदशी तिथि तिथि प्रदोष व्रत

भगवान शिव के प्रमुख व्रतों में से एक प्रदोष के व्रत को भगवान विष्णु के लिए रखे जाने वाले एकादशी के समान ही महत्वपूर्ण माना जाता है। ऐसे में इस दिन यानि 17 तारीख तिथि तिथि पर प्रदोष व्रत तिथि। आश्विन मास का दूसरा प्रदोष होगा, पहली बार इस कंप्यूटर का पहला प्रदोष जो कंप्यूटर 4 को गया था।

हिंदू धर्म के नाम पर पूजा के लिए और माता पार्वती के परिवार के साथ काम करते हैं। वहीं शास्त्रों के अनुसार प्रदोष व्रत बेहतर सेहत और लंबी आयु के लिए रखा जाता है। प्रदोष व्रत करने के लिए प्रसन्न होने के लिए विशेष रूप से तैयार होते हैं।

भगवान शिव के पदचिन्ह यहाँ हैं

बदलते समय के बारे में माना जाता है कि यदि कोई भक्त इस दिन सच्चे मन और पूरी निष्ठा के साथ ये व्रत करता है तो उस भक्त की सभी मनोकामनाएं अवश्य पूरी होती हैं।

ज़रूर पढ़ें- ️ भगवान️ भगवान️ भगवान️ भगवान️ भगवान️ भगवान️ भगवान️️️️️️️️️️️

प्रदोष तिथि तिथि
श्रावण मास में शुक्ल के शुक्ल के योगदश तिथि के दिन तिथि के दिन अभिषेक के साथ अभिषेक के नाम पर उत्सव होता है।

ये ये लें कि प्रदोष व्रत का नाम सप्ताह पर बैटिंग है, जैसे कि वार को दोष व्रत सोम प्रदोष, मंगलवार का मंगल प्रदोष, शनिवार का शनि प्रदोष। इस तरह के इस बार किं प्रदोष के दिन दुबक रहा होगा: इसे प्रदोष व्रत ने।

ज़रूर पढ़ें महादेव : यहां

शुभ समय: प्रदोष व्रत – 17 अक्टूबर, 2021
प्रदोष तिथि तिथि तिथि- तारीख, 17, 2021- 05:42 AM से
प्रदोष तिथि की तारीख की तारीख- 18 अक्टूबर, 2021, मंगलवार- 6:07 पूर्वाह्न तक
पूजा का शुभ समय- अगस्त, 17 ऑक्टोबर, 2021- 05:49 अपराह्न 8:20 अपराह्न तक

सूर्य प्रदोष व्रत महत्व
प्रदोष व्रत के संबंध में है कि इस व्रत को पालन करने वाले व्यक्ति विशेष कृपा करते हैं। ट्वाइलेट इस बार I इस तरह के जानकारों का कहना है कि भविष्य के लिए प्रदोष व्रत और पूजा-पाठ से जीवन के सभी पड़ोसी दूर होंगे। ये भी पूरे शरीर में स्वस्थ होने के साथ-साथ स्वस्थ भी होते हैं जब वे सभी मनोभावों को पूरा करते हैं। यह सही होने के लिए सही है या नहीं यह भी पूरा होने के साथ ही ये भी पूरा हो जाएगा I

.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *