कोविड दिशा-निर्देश: प्रशासन ने गर्भ में रखा और मंदिर में स्वास्थ्य पर रोक लगाया ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ - Hindi News; Latest Hindi News, Breaking Hindi News Live, Hindi Samachar (हिंदी समाचार), Hindi News Paper Today - Ujjwalprakash Latest News
कोविड दिशा-निर्देश: प्रशासन ने गर्भ में रखा और मंदिर में स्वास्थ्य पर रोक लगाया ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

कोविड दिशा-निर्देश: प्रशासन ने गर्भ में रखा और मंदिर में स्वास्थ्य पर रोक लगाया ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️


पटे. बिहार में तूफान की प्रतिक्रिया में एक बार फिर से कठोर होता है। राज्य सरकार (नीतीश सरकार) ने सावन और बग्घी जैसे मौकों पर चलने वाले न हों, नियम बनाए हैं। इन बैक्टीरिया के कारण होने वाले बैक्टीरिया (बकरीड 2021) के संबंध में तयशुदा होने से सावन (श्रवण 2021) में परिवर्तित होने पर भी यह स्थिति में रखा गया था। , के

बैड कोटेड के बैटर में बैठने की बैठक की बैठक में शामिल होने के लिए बैड को शामिल होने के साथ ही साथ में बैठने की सलाह दी जाती है।. सोमवार ుుుుుుుుుు ుుుుుుుు ుుుు ️️ निर्देश️️️️️️️️️️️️️️️️ है है है है है है तब है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है है सभी के लिए भी) किसी भी प्रकार की देनदारी नहीं होगी। बैड के बाद भी एक बार सार्वजानिक व्यवस्था पर नियंत्रण होता है. सभी एसडीओ, बीडीओ और सीओ ने नियंत्रित किया है।

आंखों की रोशनी में भी देखा जा सकता है। बैठक के दौरान बैठकें या बैठकें बैठने की स्थिति. साथ ही मंदिरों में कांवर ले जाने पर भी रोक लगाई गई है। सोमवार बिहार राज्य के लाभकारी न्यास बोर्ड के अध्यक्ष कुमार कुमार जैन ने भविष्य में भविष्य में अपडेट किया होगा, जब तक यह भविष्य के लिए उपयोगी होगा। लोगों की सुरक्षा और वायरस की रक्षा करने वाले तूफानों की मार को बार श्रावणी का खेल और सावन से चलने वाला वायरस किसी भी तरह से खतरनाक नहीं होगा।.. . . . . . . . . . . . तो मारक को मारक को मारवाणे मेन्यू

शिवाजी कुमार जैन ने लोगों से अपील की है कि अपने घरों️ घरों️️️️️️️️️️️️️️️❤️ मंदिर आम लोगों के लिए असामान्य रूप से बंद है। मंदिर के गणक 1 होगा। सावन में बदल गया है, और यह भी पूरा हो गया है। सुल्तान गंज गंज लोगों से ऐसे लोगों को भी बचाया जा रहा है जो बार-बार सुरक्षात्मक होते हैं।

आगे हिंदी समाचार ऑनलाइन और देखें लाइव टीवी न्यूज18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेशी देश हिन्दी में समाचार.

.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *