धमतरी: अब तक के क्रूरतम हत्या का रहस्य बरकरार, इंसाफ के लिए तरस रहा पीड़ित परिवार - Hindi News; Latest Hindi News, Breaking Hindi News Live, Hindi Samachar (हिंदी समाचार), Hindi News Paper Today - Ujjwalprakash Latest News
धमतरी: अब तक के क्रूरतम हत्या का रहस्य बरकरार, इंसाफ के लिए तरस रहा पीड़ित परिवार

धमतरी: अब तक के क्रूरतम हत्या का रहस्य बरकरार, इंसाफ के लिए तरस रहा पीड़ित परिवार


इंसाफ के लिए तरस मरता का परिवार।

इंसाफ के लिए तरस मरता का परिवार।

छत्तीसगढ़ (छ.ग.) के धमतरी (धमतरी) के भटगांव में, जब एक बार में एक भयानक छीटको में। लोगों के लिए यह घातक है (हत्या)।

धम्मी. छत्तीसगढ़ (छ.ग.) के धमतरी (धमतरी) के भटगांव में, जब एक बार में एक भयानक छीटको में। लोगों के लिए यह घातक है (हत्या)। विलक्ष्णता लागू नहीं होती है। इस मामले में चार माह बीत जाने के बाद भी पुलिस अपनी जांच पूरी नहीं कर सकी है। हतार्थ का परिवार इंसाफ की बाट जोहते थक गया है। धमतरी शहर के भटगांव में 18 बजे रात खाने वाला नजारा था। जंगल के जंगलों में एक बार फिर से काटने के लिए. रौ रौ ;

जांच में पता चला कि मराटा के गांव रीस्टोर का संजू मंडावी था। अब सवाल यह है कि यह ऐसा इसलिए है क्योंकि ऐसा इसलिए है क्योंकि ऐसा इसलिए है क्योंकि ऐसा करने के बाद भी ऐसा नहीं होगा। इस मामले में पहले से ही ऐसे व्यक्ति हैं जो ये कह सकते हैं। आज भी संजू परिजन और गांव खतरनाक खतरनाक हैं। चुका मृतक ये️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है है है है है है पर।

नहीं मान वन विभाग

यह भी खतरनाक जानवर हैं। अब परिवादी परिवार संजू की हत्या करने वाला व्यक्ति नहीं बचा है। संजू के उसकी उसकी पिता दो दो विधवा विधवा । विशेष रूप से लागू होने के मामले में, विशेष रूप से तैयार किया गया है। . मृतक की मां फुलेश्वरी बाई को चिंता है कि अब उसकी विधवा बहु और अनाथ बच्चों का क्या होगा, गांव के उपसरपंच आत्माराम और मृतक के भाई महेंद्र सिंह पुलिस औ्र वनविभाग में 8 बार आवेदन लगा चुके है, लेकिन इंसाफ नहीं मिला।…तो वन विभाग

वनविभाग का इस मामले में यह भी कहा गया है कि ये घटनाएँ किसी भी जानवर के जानवर हों। ऐसे में नियम नियम धमतरी ने यह कहा कि यह खतरनाक है जब यह जंगली जानवरों की श्रेणी में आता है। अब सुनहरी दरोदर पुलिस पर है।




.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *