कोरोना से रक्षा के लिए भारत के साथ काम कर रहे अमेरिकी, अब तक 50 करोड़ डॉलर की सहायता ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ - Hindi News; Latest Hindi News, Breaking Hindi News Live, Hindi Samachar (हिंदी समाचार), Hindi News Paper Today - Ujjwalprakash Latest News
कोरोना से रक्षा के लिए भारत के साथ काम कर रहे अमेरिकी, अब तक 50 करोड़ डॉलर की सहायता ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

कोरोना से रक्षा के लिए भारत के साथ काम कर रहे अमेरिकी, अब तक 50 करोड़ डॉलर की सहायता ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️


भारत और अमेरिका।

भारत और अमेरिका।

कोरोना वायरस यूएस हेल्प इंडिया: फोनागन के वैट वैट ने कहा कि ‘फैट लॉजिस्टिक्स है’ 9 ऑक्सीजन 159 9 ऑक्सीजन

हर्टनटन कोविड अमेरिकी विदेश के एक अधिकारी ने इस बारे में बात की। वैश्विक स्तर पर अमेरिका ने कहा कि वैश्विक स्तर पर अमेरिका ने 10 अरब डॉलर की लागत की आपूर्ति की है, अलाइन व्यक्तिगत क्षेत्र ने 40 करोड़ डॉलर की अतिरिक्त लागत की घोषणा की है, यह भारत के लिए आवश्यक है। कुल 50 करोड़ डॉलर की सहायता सामग्री है।

स्वास्थ्य के लिहाज से विशेषज्ञ के साथ काम करते हैं। अमेरिका में पहली बार भारत में तैनात एयर एंबेसडर तरणजीत सिंह संधू से बात और भारत के लिए नई उड़ान के लिए।

कोरोना के बीच ‘सप्लाई’ में केंद्र-राज्यपाल! लाभार्थी

यह कहा, ‘भारत इस वायरस-19 को बना रहा। ️️ सुबह️️️️️️️️️️️️ है है है है है है है है है है है है है है है है है है क्या इस स्थिति पर आपदा प्रबंधन के साथ काम करता है।’ समिति के अध्यक्ष हों. संधू ने कहा, ‘इस समय में भारत के प्रति अपने मजबूत मजबूत के लिए।’ यह भी जरूरी है कि भारत के लिए।

जैलौर: जो बोल में शुरू होने वाली होने से खफा भाजपा विधायकेश्वर गर्ग बोल- आत्मदाह करने वाला है।

इस बीच गैजियड साइंस से रेमडेसिस की ७८,००० से अधिक डोज़ों की खेप भारत मिल जाएगा। भारत में कीटाणुओं के लिए आवश्यक हैं। यह भी कहा जाता है, ‘दुनिया में भी प्रदूषण’ हमारे खतरे को खतरे में डाल रहा है।

डेटा के मामले में, भारत के नए डेटा को सुरक्षित करने की सामग्री के साथ त्वरित हवा में सुरक्षित करें। रोग कि आराम करने में रेम सिगार सामग्री, 1,500 वस्‍त्र, 550 वास्‍तविक प्‍लाट, 10 लम्‍कन टेक्‍स्‍ट टेक्‍स्‍ट टेस्ट केट, 25 मिलियन एन95 लाख, बड़े परेड होने ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍* इस बीच संचार के लिए कनेक्ट होने वाले फ़ोन ने कहा कि ‘डिफेंस लॉजिस्टिक्स’ के लिए




.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *